गांगुली-द्रविड़-लक्ष्मण और कुंबले ने कौन सा वर्ल्ड कप जीता है?

04:50 PM Jan 26, 2022 | अविनाश आर्यन
Advertisement
टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री ने एक बार फिर से विराट कोहली (Virat Kohli) को सपोर्ट किया है. और उनकी आलोचना करने वालों को करारा जवाब दिया है. रवि शास्त्री ने पूछा है कि क्या विश्वकप न जीत पाने का मतलब खराब प्लेयर होता है? विराट का बचाव करते हुए शास्त्री ने सौरव गांगुली, द्रविड़, कुंबले का उदाहरण दिया. ANI से बात करते हुए शास्त्री ने कहा,
'सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़, अनिल कुंबले, लक्ष्मण, रोहित शर्मा जैसे कई बड़े खिलाड़ियों ने विश्वकप नहीं जीता है. तो क्या हम उन पर बुरा खिलाड़ी होने का ठप्पा लगाएंगे? आप ऐसे ही किसी के लिए अपनी राय नहीं बना सकते हैं. भारत में सिर्फ दो ही वर्ल्ड कप विनिंग कैप्टन हुए हैं. यहां तक कि सचिन तेंदुलकर को भी विश्व विजेता बनने के लिए छह विश्वकप खेलने पड़े थे. ऐसे ही बस किसी को विश्वकप के आधार पर आंकना नहीं चाहिए.'
बता दें कि विराट कोहली ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद कप्तानी छोड़ दी. जबकि T20I विश्वकप से पहले वह T20I कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर चुके थे. बाद में BCCI ने कोहली को वनडे कप्तानी से हटा दिया था. और रोहित को लिमिटेड ओवर फॉर्मेट का कप्तान बना दिया. कोहली की कप्तानी में भारत ICC टूर्नामेंट जीत नहीं सका. कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया 2017 चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पहुंची, जहां उन्हें पाकिस्तान के हाथों हार मिली. इसके बाद 2019 विश्वकप के सेमीफाइनल में टीम इंडिया को न्यूज़ीलैंड के हाथों शिकस्त मिली. जबकि 2021 में हुई वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भी कोहली सेना को न्यूज़ीलैंड के हाथों हार मिली. शास्त्री ने आगे कहा,
'आखिर में आप कैसा खेलते हैं, इस पर लोग आपको जज करेंगे. क्या आप खेल के एम्बेसडर हैं? क्या आप खेल सही निष्ठा से खेलते हैं? और क्या आप लंबे समय तक के लिए खेलते हैं? इस आधार पर खिलाड़ियों को आखिर में जज किया जाता है.'
बता दें कि हाल ही में साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में टीम इंडिया को शर्मनाक हार मिली. मेज़बान साउथ अफ्रीका ने 3-0 से भारत का सूपड़ा साफ किया. इससे पहले तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में भी टीम इंडिया को साउथ अफ्रीका ने 2-1 के अंतर से हराया था. जब भारत की हार पर शास्त्री से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा,
'मैंने सीरीज की एक गेंद तक नहीं देखी. लेकिन अगर आप एक सीरीज हारते हैं. तो लोग आलोचना करने लगते हैं. उन्हें ये भी समझना होगा कि आप हमेशा नहीं जीत सकते हैं. हार और जीत लगी रहेगी. एक हार से कैसे टीम का लेवल नीचे चला आएगा. आपकी टीम पांच सालों से नंबर वन है. और कप्तानी छोड़ने के बाद भी मुझे नहीं लगता है कि विराट कोहली में ज्यादा कुछ बदलाव होगा.'
बताते चलें कि अब टीम इंडिया अपने घर में वेस्टइंडीज़ से वनडे और T20I सीरीज में भिड़ेगी. यह सीरीज 6 फरवरी से शुरू हो रही है.
ब्रेंडन टेलर के सनसनीखेज खुलासे से क्रिकेट जगत में मचा तहलका
Advertisement
Advertisement
Next