दिल्ली: गाजीपुर के बाद सीमापुरी में मिला IED, राजधानी को दहलाने की साजिश!

02:47 PM Feb 19, 2022 |
Advertisement
दिल्ली पुलिस ने उस बाइक को बरामद कर लिया है, जिसका इस्तेमाल 14 जनवरी को गाजीपुर के फ्लावर मार्केट (Ghazipur Flower Market) में IED प्लांट करने के लिए किया गया था. इस बाइक को दिल्ली के ओल्ड सीमापुरी इलाके से बरामद किया गया. इसी इलाके के एक घर से पुलिस ने 17 फरवरी को IED बरामद किया. बाइक को ओल्ड सीमापुरी इलाके में स्थित एक चार मंजिला इमारत के पास पार्क किया गया था. दिल्ली पुलिस ने 18 फरवरी को इस बाइक को बरामद किया. इससे एक दिन पहले ओल्ड सीमापुरी इलाके में पुलिस को IED मिला था. पुलिस के मुताबिक, ये गाजीपुर में मिले IED से मिलता है. दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना का कहना है कि बरामद आईईडी सार्वजनिक स्थानों पर विस्फोट करने के इरादे से रखे गए थे. पुलिस ने कहा स्थानीय समर्थन के बिना ऐसी साजिश करना संभव नहीं है. अस्थाना ने मीडिया को बताया,
"हम दिल्ली में इस तरह की किसी भी घटना को रोकने और सभी स्थानीय और विदेशी नेटवर्क को बेनकाब करने की कोशिश कर रहे हैं. गाजीपुर और ओल्ड सीमापुरी से बरामद आईईडी भी समान दिखाई दे रहे हैं."
  इससे पहले गाजीपुर IED मामले की जांच कर रही स्पेशल सेल ने 17 फरवरी की दोपहर ओल्ड सीमापुरी स्थित एक घर में छापेमारी की, तो उसमें आईईडी से भरा एक बैग मिला. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक इमारत की दूसरी मंजिल पर मौजूद एक बंद कमरे से IED बरामद हुआ. संदिग्ध बैग मिलने के बाद पुलिस ने आसपास की इमारतों से लगभग 400 लोगों को निकाला. लोगों को स्पॉट तक पहुंचने से रोकने के लिए इलाके को सील कर दिया गया. आस-पड़ोस पर नज़र रखने के लिए पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है. पुलिस ने इलाके में रहने वाले किराएदारों की भी जानकारी, वहां रहने वाले लोगों से ली. IED बरामद होने के बाद नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (National Security Guard- NSG), दिल्ली फायर सर्विस, फोरेंसिक साइंस लैब (FSL) और बम निरोधक दस्ते (Bomb Squad) की टीमों को मौके पर बुलाया गया. ढाई से तीन किलो वजनी IED को बाद में निष्क्रिय कर दिया गया. पुलिस घर के मालिक और एक प्रॉपर्टी डीलर से पूछताछ कर रही है.

गणतंत्र दिवस पर बंद मिला था घर!

जांच के दौरान यह पता चला कि सीमापुरी पुलिस स्टेशन के अधिकारियों ने गणतंत्र दिवस से पहले क्षेत्र में किरायेदारों का वेरिफिकेशन भी किया था. लेकिन उस समय यह घर बंद मिला था. स्पेशल सेल की टीम इमारत और उसके आसपास लगे सभी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है. घटना स्थल से मिले विस्फोटकों को जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा गया है. इससे पहले जनवरी में गाजीपुर स्थित फ्लॉवर मार्केट में एक लावारिस बैग में RDX और अमोनियम नाइट्रट से लैस एक आईईडी मिला था. इसे बम निरोधक दस्ते की मदद से निष्क्रिय कर दिया गया था. ऐसा माना जा रहा है कि गाजीपुर आईईडी मामले की जांच के दौरान ही पुलिस के अधिकारियों को ओल्ड सीमापुरी में विस्फोटक होने की गुप्त सूचना मिली थी.
वीडियो- जम्मू-कश्मीर पुलिस ने 4 आतंकियों को गिरफ्तार कर बताया- ये IED ब्लास्ट करना चाहते  
Advertisement
Advertisement
Next