'हर स्टूडेंट पर 90 रुपये खर्च करो', दिल्ली सरकार ने एग्जाम का बजट कम किया, पहले इतना था

11:12 PM Sep 21, 2022 | प्रशांत सिंह
Advertisement

दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने सरकारी स्कूलों में परीक्षा आयोजित कराने के लिए खर्च होने वाले बजट को कम कर दिया है. दिल्ली सरकार के अंतर्गत आने वाले डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन की तरफ से इसको लेकर एक नोटिस जारी किया गया है. नोटिस में कहा गया है कि एग्जाम आयोजित कराने के लिए साल 2022-23 में हर स्टूडेंट पर 90 रुपये ही खर्च किए जाएंगे. पहले हर स्टूडेंट पर 125 रुपये खर्च किए जाते थे.

Advertisement

डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन ने अपने नोटिस में कहा, 

सभी सरकारी स्कूलों को सूचित किया जाता है कि साल 2022-23 की परीक्षा आयोजित करने के लिए स्कूलों को क्लास 1 से 11 तक प्रति छात्र 90 रुपये का बजट जारी किया गया है. 

नोटिस में आगे कहा गया है कि अतिरिक्त बजट की मांग पर विचार नहीं किया जाएगा. न्यूज एजेंसी PTI की रिपोर्ट के अनुसार, सरकारी स्कूल टीचर्स एशोसिएशन के डिस्ट्रिक्ट सेक्रेटरी संत राम ने बताया, 

क्योंकि स्कूलों में रोज की लागत बढ़ रही है, ऐसे में शिक्षा में सरकार द्वारा बजट में और कटौती स्कूलों के लिए एक और समस्या होगी.

दौरों पर भी रोक

संत राम ने आगे बताया कि दिल्ली सरकार ने कई अन्य क्षेत्रों में भी बजट कम किया है. उनके मुताबिक सरकार कोविड महामारी आने के बाद से ही फंड की कटौती कर रही है. इसके अलावा सरकार ने स्थानीय दौरों को भी बंद कर दिया है, जो हर साल आयोजित होते थे. उन्होंने बताया कि स्थानीय दौरे पहले 2020 में बंद किए गए थे, जिसके बाद 8वीं और 9वीं क्लास के लिए फिर से शुरू किए गए थे.

रिपोर्ट के अनुसार, डायरेक्टोरेट ऑफ एजुकेशन ने 9 सितंबर को एक नोटिस जारी किया था. नोटिस में कहा गया था कि क्लास 8वीं और 9वीं में होने वाले सालाना स्थानीय दौरों को रोक दिया जाएगा. इन्हें फिर से संशोधित कर दोबारा नए नियमों के साथ लागू किया जाएगा. 


रंगरूट. दी लल्लनटॉप की एक नई पहल. जहां आपको खबर मिलेगी पढ़ाई-लिखाई, कॉलेज-यूनिवर्सिटी, कैंपस से लेकर प्लेसमेंट और करियर तक की. सरकारी भर्तियों का हाल भी और स्टार्ट अप्स की कहानियां भी यहीं मिलेंगी. अपने सुझाव और सवाल हमें लिखिए rangroot@lallantop.com पर. रंगरूट से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें. 

फेसबुक 
यूट्यूब 
ट्विटर


वीडियो- देश में इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का कितना स्कोप, कैसे बनें IT प्रोफेशनल्स?

Advertisement
Next