क्यों 57 नौकरशाहों ने चुनाव आयोग से की 'आप' को चुनाव लड़ने से रोकने की मांग?

01:40 PM Sep 17, 2022 | नूपुर पटेल
Advertisement

“आम आदमी पार्टी यह भूल गई है कि सरकारी कर्मचारियों की राजनीतिक दलों के प्रति कोई निष्ठा नहीं हो सकती. उनकी जिम्मेदारी जनकल्याण के लिए काम करने की होती है.”

Advertisement

ये बात कई नौकरशाह अपनी चिट्ठी में कह रहे हैं. दरअसल नौकरशाहों ने आम आदमी पार्टी की मान्यता रद्द करने के लिए चुनाव आयोग को पत्र लिखा है. और ऐसे नौकरशाहों की संख्या है 57. और मांग ये भी की है कि आम आदमी पार्टी को आगामी विधानसभा चुनाव न लड़ने दिया जाए.

This browser does not support the video element.

Advertisement
Next