किताबी बातें: 'मेरे स्तन पर हाथ रखा' ISIS की बर्बरता झेलने वाली नाडिया मुराद की सच्ची कहानी

08:38 AM May 15, 2023 | दीपक तैनगुरिया
Advertisement

This browser does not support the video element.

ये उत्तरी इराक की रहने वाली एक यजीदी लड़की की जुबानी, उसकी ही कहानी है. जिसकी मां को ISIS ने अनजान जगह पर मारकर दफना दिया. भाई को सैंकड़ों पुरुषों के साथ मौत के घाट उतार दिया. उसकी बहन और भतीजी के साथ बलात्कार किया गया. ISIS की भयानक यातना झेलने से लेकर उनके चंगुल से भागने तक दर्दनाक दास्तां है.  ये नोबल पीस पुरस्कार पाने वाली नादिया मुराद की कहानी है.

Advertisement

Advertisement
Next