JNU में BBC की डॉक्यूमेंट्री देख रहे छात्रों पर पत्थरबाजी, पहले बिजली काटी गई थी

12:02 AM Jan 25, 2023 | आर्यन मिश्रा
Advertisement

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में BBC द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनाई गई डॉक्यूमेंट्री 'इंडिया: द मोदी क्वेश्चन' (India: The Modi Question) की स्क्रीनिंग को लेकर विवाद हुआ है. इंडिया टुडे के अक्षय डोंगरे की रिपोर्ट के मुताबिक, डॉक्यूमेंट्री देख रहे छात्रों पर पत्थरबाजी हुई. रिपोर्ट के अनुसार, इस डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग से पहले JNU प्रशासन ने बिजली काट दी थी. यूनिवर्सिटी में 24 जनवरी को रात 9 बजे इस डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग होनी थी. इससे पहले प्रशासन ने इस डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग ना करने के लिए कहा था.

Advertisement

रिपोर्ट्स के अनुसार, JNU छात्र संघ ने प्रशासन की एडवाइजरी को नहीं माना और तय समय पर डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग की बात कही. इधर बिजली काट दिए जाने पर छात्रों ने आरोप लगाया कि डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग रोकने के लिए प्रशासन ने ऐसा किया है. बिजली कटने के बाद छात्र संघ की तरफ से घोषणा की गई कि वो डॉक्यूमेंट्री को छात्रों के फोन में भेजेंगे और फिर सभी छात्र साथ मिलकर इसे देखेंगे. 

छात्र संघ ने पूछे सवाल

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 23 जनवरी को यूनिवर्सिटी प्रशासन ने स्क्रीनिंग को रोकने के लिए एडवाइजरी जारी की थी. इसके बाद JNU छात्र संघ ने प्रशासन के सर्कुलर के संबंध में कुछ सवाल पूछे थे. छात्र संघ की तरफ से पूछा गया था कि यूनिवर्सिटी के नियमों के मुताबिक क्या किसी फिल्म की स्क्रीनिंग के लिए प्रशासन की परमीशन लेना जरूरी है? छात्रों ने प्रशासन से ये भी पूछा था कि किस नियम के तहत स्क्रीनिंग को लेकर उन्हें एडवाइजरी जारी की गई थी? 

छात्र संघ की तरफ से आगे कहा गया था कि छात्रों का डॉक्यूमेंट्री देखना और उसकी स्क्रीनिंग करना पूरी तरह से स्वैच्छिक है और वो यूनिवर्सिटी में किसी भी तरह का तनाव पैदा नहीं करना चाहते हैं. इससे पहले प्रशासन ने कहा था कि डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग से यूनिवर्सिटी में अलग-अलग समुदायों के बीच तनाव पैदा हो सकता है. 

इधर इस पूरे घटनाक्रम के बाद JNU छात्रसंघ का कहना है कि बिजली ना होने की वजह से छात्रों का हॉस्टल में जाना सेफ नहीं है. DCP साउथ वेस्ट ने मामले पर कहा है कि अगर उन्हें इस मामले में JNU में किसी भी सेक्शन से शिकायत मिलती है, तो उसके आधार पर आगे का कार्रवाई की जाएगी.

Advertisement
Next