17 किलो नशीली दवाइयां लेकर LoC पार कर रहे थे, सेना ने एक को ढेर किया, दो पकड़े गए

07:43 PM Apr 09, 2023 | सुरभि गुप्ता
Advertisement

जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना ने बीती रात एक आतंकी घुसपैठ की साजिश नाकाम कर दी. सेना ने एक संदिग्ध आतंकी को मार गिराया, जबकि दो संदिग्धों को जिंदा पकड़ा है. तलाशी अभियान में कई किलो नशीली दवाइयां और पाकिस्तान करेंसी बरामद की गई है. घुसपैठ की ये घटना 8-9 अप्रैल के रात की है. जम्मू के पुंछ सेक्टर में लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) के पास सेना को शनिवार, 8 अप्रैल की देर रात संदिग्ध गतिविधियों की भनक लगी थी. आधी रात में तीन संदिग्धों को LoC पार करते देखा गया था. 

Advertisement

आजतक के सुनील जी भट्ट की रिपोर्टके मुताबिक इसके बाद जवानों ने मोर्चा संभाला और बाड़ के पास संदिग्धों को चुनौती दी. इस दौरान सेना की ओर से कई राउंड फायरिंग की गई. एक घुसपैठी को गोली लग गई, वहीं बाकी दोनों संदिग्ध आतंकी जंगल की ओर भाग गए. सेना ने इलाके को घेर कर सर्च ऑपरेशन शुरू किया और दोनों संदिग्ध आतंकियों को जिंदा पकड़ लिया.

सेना के सर्च ऑपरेशन में अब तक नारकोटिक्स यानी नशीली दवाइयों (लगभग 17 किलो वजन) के चौदह पैकेट बरामद किए गए हैं. इसके अलावा तीन बैग, पाकिस्तानी करेंसी, कुछ डॉक्यूमेंट और खाने-पीने का सामान मिला है. रिपोर्ट के मुताबिक पकड़े गए आतंकियों के पास से कोई हथियार नहीं मिला है.  

शुरुआती पूछताछ में दोनों घुसपैठियों ने बताया कि वे पाकिस्तान अधिकृत जम्मू-कश्मीर (POJK) से आए हैं और गांव चंजाल के मैदान मोहल्ला के रहने वाले हैं. सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा कि भारतीय सेना के जवानों ने अपनी तेज कार्रवाई से घुसपैठ की बड़ी साजिश को रोका है. उन्होंने कहा कि भारतीय सेना नियंत्रण रेखा पर लगातार अलर्ट रहती है और भविष्य में ऐसी किसी भी कोशिश को नाकाम करने के लिए पूरी तरह से तैयार है. 

इसस पहले फरवरी महीने में सेना ने 15-16 फरवरी की रात को तंगधार सेक्टर में घुसपैठ की एक कोशिश को नाकाम किया था. इसमें एक आतंकी मारा गया था, जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया. घायल आतंकी अपने तीसरे आतंकी साथी के साथ अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गया था. इसके बाद सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने संयुक्त तलाशी अभियान चलाया था. इसमें मारे गए आतंकी के पास से एके सीरीज की राइफल, छह मैगजीन, दो ग्रेनेड और दूसरी चीजें बरामद की गई थीं. 

Advertisement
Next