बच्ची ने लोन ऐप डाउनलोड किया, हैकरों ने मां की फ़ोटो चुराकर वायरल कर दी!

12:54 PM Sep 06, 2022 | मनीषा शर्मा
Advertisement

राजस्थान के अजमेर में छह साल की एक बच्ची अपनी मां के फोन से खेल रही थी. खेलते-खेलते उसने अपनी मां के फोन पर कई गेम डाउनलोड कर लिए. गेम्स के साथ उसने तीन-चार लोन ऐप भी डाउनलोड कर लिए और उन्हें फोटो गैलरी, फोन बुक एक्सेस करने की परमिशन भी दे दी. इसके बाद फोन हैक हो गया और बच्ची की मां के पास हैकर्स के अलग-अलग नंबरों से कॉल आने लगे. हैकरों ने फोन से बच्ची की मां की फोटोज़ निकाल ली थीं, और उनका इस्तेमाल करके नग्न तस्वीरें बना दी थीं. महिला ने इसकी शिकायत पुलिस में की है.

Advertisement

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता अजमेर के एक जूलरी शोरूम के सेल्स मैनेजर की पत्नी हैं. वो 29 साल की हैं. उनकी बेटी ने करीब 15 दिन पहले उनके फोन में ऑनलाइन लोन के ऐप्स (ईजी ऑबटेन, डोउ कैश, रुपए की, फ्यूचर क्रेडिट)डाउनलोड कर लिया था और उन ऐप्स को तमाम परमिशंस भी दे दी थीं. ऐप का पता चलते ही पीड़िता ने उन्हें डिलीट कर दिया था. लेकिन तब तक उनका फोन हैक हो चुका था.

पीड़िता ने बताया कि हैकर्स ने उनके फोन को हैक करने के बाद उनकी सारी तस्वीरें और कॉन्टैक्ट नंबर अपने पास ले लिए. फोटोज़ का इस्तेमाल करके आरोपियों ने उनकी नग्न तस्वीरें बनाईं और फिर उसके आधार पर वो उन्हें ब्लैकमेल करने लगे. हैकरों ने ये फोटोज़ पीड़िता के सभी कॉन्टैक्ट्स को भेज दीं. 2 सितंबर को उनके पास कॉल्स आने शुरू हुए, अलग-अलग नंबर से वॉट्सऐप पर लगातार कॉल आ रहे थे. पीड़िता को धमकियां मिल रही थीं. गंदे मैसेजेस आने लगे. परेशान होकर पीड़िता ने अपना फोन बंद कर लिया. 4 सितंबर को उसने अजमेर के क्रिश्चियन गंज थाने में FIR दर्ज करवाई. FIR में पीड़िता ने बताया, 

"मुझे रोज 10-15 नंबर्स से वॉट्सऐप पर कॉल आते हैं. मेरी एडिटेड फोटो भेजकर मुझे ब्लैकमेल किया जा रहा है. मुझसे बिना लोन लिए पैसे मांगे जा रहे हैं. इन सब चीज़ों से मैं बहुत परेशान हो रही हूं."

इस मामले में अजमेर SP चुनाराम जाट ने कहा, 

“घटना की जांच जिला पुलिस की साइबर टीम कर रही है. हम जल्द से जल्द आरोपियों तक पहुंच जाएंगे. साथ ही सभी लोगों से अपील है कि किसी तरह की एप्लिकेशन को डाउनलोड न करें, और न अपनी पर्सनल इंफॉर्मेशन उनसे शेयर करें.”

पहले भी आया ऐसा मामला 

मुंबई में रहने वाली 26 साल एक महिला ने एक ऐप इंस्टॉल किया था.  लोन लेने के लिए. लोन लिया नहीं, लेकिन आरोप है कि ऐप के जरिए फोन की गैलरी से महिला की तस्वीरें निकाली गईं और फिर उन्हें एडिट करके नग्न तस्वीरें बनाई गईं. इसके बाद ये तस्वीरें महिला के कॉन्टैक्ट लिस्ट में मौजूद नंबरों पर भेज दी गईं. आरोप है कि कंपनी के एक एजेंट ने महिला को आपत्तिजनक मैसेजेस भी भेजे.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, महिला ने पुलिस में 19 जून को शिकायत दी. उन्होंने पुलिस को बताया कि वो जल्द ही शादी करने वाली थीं. उनके मंगेतर उनके खर्चों का ख्याल रखते हैं. लेकिन एक ज़रूरी काम के लिए उन्हें रुपयों की ज़रूरत पड़ गई. उन्होंने यूट्यूब पर एक वीडियो में एक लोन कंपनी का ऐड देखा था और वहां से देखकर उन्होंने ऐप डाउनलोड कर लिया. ऐप इंस्टॉल करने के बाद उन्होंने ऐप को फोन बुक और फोटो गैलरी का एक्सेस दे दिया. महिला ने पुलिस को बताया कि उन्हें ऐप में कुछ गड़बड़ लगी तो उन्होंने लोन के लिए अप्लाई नहीं किया और ऐप अपने फोन से डिलीट कर दिया. महिला ने बताया कि ऐप डिलीट करते ही उनके पास अलग-अलग नंबर से फोन मैसेज आने लगे. एक मैसेज में उन्हें और उनकी मां को सेक्स वर्कर कहा गया और लोन के पैसे लौटाने की बात कहने लगे. जबकि महिला ने लोन के लिए अप्लाई भी नहीं किया था. यही मैसेज महिला के परिवार, रिश्तेदारों, ऑफिस के सहकर्मियों और दोस्तों को भी भेजे गए. रिपोर्ट के मुताबिक, लोन ऐप के एजेंट्स ने महिला, उनकी बहन और उनके दोस्तों की तस्वीरों को एडिट करके नग्न तस्वीरें बनाईं. और वो सारी तस्वीरें महिला के कॉन्टैक्ट लिस्ट में मौजूद नंबर्स पर भेज दीं. लगातार आ रहे फोन कॉल्स और मैसेजेस से घबराकर महिला ने पुलिस में संपर्क किया. पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है.


वीडियो खर्चा पानी: लोन देने वाले एप्स से कैसे बचें, LIC के शेयरों में हुई भारी गिरावट 

Advertisement
Next