कल रात मेसी ने रिकार्ड तोड़कर किनारे लगा दिया, पूरी दुनिया में हल्ला!

11:52 AM Dec 14, 2022 | रविराज भारद्वाज
Advertisement

अर्जेंटीना फीफा विश्व कप 2022 के फाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बन गई है. सेमीफाइनल में अर्जेंटीना ने क्रोएशिया (ARG vs CRO) को 3-0 से हरा दिया. टीम की जीत में एक बार फिर सबसे बड़े हीरो रहे सुपरस्टार फुटबॉलर लियोनल मेसी (Lionel Messi). जिन्होंने मुकाबले में 1 गोल और 1 असिस्ट के जरिए अर्जेंटीना की जीत सुनिश्चित कर दी. साथ ही साथ मेसी ने शानदार प्रदर्शन के जरिए कई बड़े रिकॉर्डस भी अपने नाम कर लिए.

मेसी के अलावा टीम के युवा खिलाड़ी जूलियन अल्वरेज ने भी कमाल का खेल दिखाया. उन्होंने इस मुकाबले में 2 शानदार गोल दागे. साथ ही टीम के लिए उन्होंने एक पेनल्टी कॉर्नर भी जीता. 2 बार की विश्व कप का खिताब अपने नाम कर चुकी अर्जेंटीना की टीम कुल छठी बार वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची है. जहां उनकी टक्कर फ्रांस और मोरक्को के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल की विजेता टीम से होगी. फाइनल मुकाबला 18 दिसंबर को खेला जाएगा. 

Advertisement

#Messi ने बनाए रिकॉर्ड्स

इस मुकाबले में गोल करने के साथ ही लियोनल मेसी ने इतिहास रच दिया. मेसी के नाम विश्व कप में कुल 11 गोल हो गए हैं. इस मामले में उन्होंने दिग्गज फुटबॉलर गेब्रियल बतिस्तुता को पीछे छोड़ दिया है. जिनके नाम कुल 10 गोल थे. वहीं इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना हैं. जिनके नाम कुल 8 गोल हैं. माराडोना मतलब मेसी के पुराने उस्ताद भी और टीम के पुराने चीफ भी.

क्रोएशिया के खिलाफ मैदान पर उतरते ही मेसी ने विश्व कप में अपना 25वां मुकाबला खेला. इसके साथ ही मेसी ने विश्व कप में सबसे ज्यादा मैच खेलने के लोथार मैथेयूस के वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है. जर्मनी के महान मिडफील्डर मैथेयूस ने 1982 विश्व कप से लेकर 1998 विश्व कप के बीच कुल 25 मुकाबले खेले.

साथ ही विश्व कप में चार अलग अलग मौकों पर 1 ही मैच में गोल और असिस्ट देने वाले मेसी दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए. इस साल विश्व कपके दौरान उन्होंने तीन मौकों पर ये कारनामा किया है. मेसी के नाम इस वर्ल्ड कप में अब तक कुल 5 गोल हो चुके हैं. वो गोल्डन बूट की रेस मे फ्रांस के किलियन एम्बाप्पे के साथ टॉप पर पहुंच गए हैं.

#ARG vs CRO 

मैच की बात करें तो अर्जेंटीना की टीम शुरुआत से ही क्रोएशिया पर हावी नजर आई. मैच के 34वें मिनट में क्रोएशियाई गोलकीपर डॉमिनिक लिवाकोविच ने अल्वरेज के खिलाफ अपने बॉक्स में फाउल किया. जिस कारण अर्जेंटीना को पेनल्टी मिल गई. मेसीने इस मौके का फायदा उठाते हुए गोल दाग टीम को 1-0 से आगे कर दिया. वहीं 39वें मिनट में जूलियन अल्वरेज ने बेहतरीन सोलो गोल दागकर अर्जेंटीना की बढ़त को 2-0 कर दिया. जबकि 69वें मिनट में जूलियन अल्वरेज ने मेसी के शानदार असिस्ट पर मैच में अपना दूसरा गोल दागते हुए अर्जेंटीना को 3-0 से जीत दिला दी. 

अर्जेंटीना की टीम ने इससे पहले साल 2014 में भी फाइनल में जगह बनाई थी. जहां उन्हें एक्स्ट्रा टाइम में जर्मनी के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. लेकिन इस बार मेसी की कप्तानी वाली टीम की पूरी कोशिश खिताब जीतने की होगी.


 KL Rahul टेस्ट मैच से पहले फैन्स से झूठे वादे कर गए?

Advertisement
Next