ये वाला IPL तो बस...धोनी की तारीफ़ में पाकिस्तान वालों ने बड़ी बात बोल दी!

01:03 PM Jun 01, 2023 | सूरज पांडेय
Advertisement

इंडियन प्रीमियर लीग का एक और सीजन खत्म हो गया. चेन्नई सुपर किंग्स ने फाइनल में गुजरात टाइटंस को हराकर टाइटल अपने नाम किया. इस बार भी टूर्नामेंट में कमाल की परफॉर्मेंसेज देखने को मिलीं. कई इंटरनेशनल तो कई लोकल प्लेयर्स ने जलवे बिखेरे.

Advertisement

लेकिन असली माहौल तो महेंद्र सिंह धोनी ने बनाया. इस सीजन तला ने कई छोटे-छोटे कैमियो किए. धोनी जहां भी गए, वहीं लोगों की भीड़ इकट्ठा हुई. लोगों को लग रहा था कि ये तला का आखिरी IPL सीजन है. और इसीलिए लोगों ने उन्हें देखने के लिए लाइन लगा ली. धोनी के इस जलवे पर अब पाकिस्तान से भी कॉमेंट्स आए हैं.

पूर्व PCB चीफ़ रमीज़ राजा ने कहा है कि IPL2023 को धोनी मेनिया के लिए याद रखा जाएगा. इस टूर्नामेंट के दौरान सुनील गावस्कर ने अपनी शर्ट पर धोनी से ऑटोग्राफ लिया था. इस घटना को याद करते हुए राजा बोले,

'यह IPL पीले रंग और महेंद्र सिंह धोनी के लिए याद रखा जाएगा. उनकी विनम्रता, धोनी मेनिया, उनकी कप्तानी, उनकी शांति, और उनकी कीपिंग सालों तक याद रखी जाएगी. लेकिन सबसे ज्यादा, यह IPL उस पल के लिए याद रखा जाएगा, जब सुनील गावस्कर जैसे लेजेंड ने धोनी से अपनी शर्ट पर ऑटोग्राफ साइन करने को कहा. धोनी की इससे बड़ी तारीफ़ नहीं हो सकती.'

धोनी का ये दसवां IPL फाइनल था. और पहली गेंद पर बिना खाता खोले आउट हुए धोनी ने कप्तान के रूप में पांचवीं IPL ट्रॉफ़ी जीत ली. राजा ने इस टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करने वाले इंडियन यंगस्टर्स की भी तारीफ़ की. वह बोले,

'यह युवा बैटर्स के लिए भी याद रखा जाएगा. रिंकू सिंह, शुभमन गिल, यशस्वी जायसवाल और रुतुराज गायकवाड़. ये स्टार्स आने वाले कई सालों तक इन ग्राउंड्स की शोभा बढ़ाएंगे. यह सीजन इसलिए भी याद रखा जाएगा कि इसमें कई बड़े नाम बाहर बैठे, जबकि छोटे देशों के प्लेयर्स ने कमाल किया. फैक्ट ये भी है कि भले आपकी कोचिंग टीम में बड़े नाम हों, लेकिन ये सफलता की गारंटी नहीं हो सकते.

यह IPL फ़ैन्स, अच्छे शॉट्स और अच्छे कैचेज के लिए भी याद रखा जाएगा. जब बोलर्स विकेट लेते हैं तो वो उल्टे-सीधे भांगड़े नहीं करते थे. वे प्रेशर सिचुएशंस में अपने गेम को उठाते थे. टूर्नामेंट गुजरात टाइटंस की बोलिंग और लेग स्पिनर्स के लिए याद रखा जाएगा. इस IPL में एक वॉव फैक्टर था.'

बता दें कि IPL फाइनल बारिश के चलते तय वक्त पर नहीं हो पाया था. संडे, 28 मई को हुई बारिश के बाद यह सोमवार, 29 मई को खेला गया. टॉस जीतकर चेन्नई ने पहले बोलिंग का फैसला किया. साइ सुदर्शन की अच्छी बैटिंग के चलते गुजरात ने 20 ओवर्स में 214 रन बनाए.

डकवर्थ लुइस नियम के आधार पर चेन्नई को जीत के लिए 15 ओवर्स में 171 रन बनाने का लक्ष्य मिला. टीम ने पांच विकेट खोकर जीत के लिए जरूरी रन बना लिए.

Advertisement
Next