मेसी ने वर्ल्ड कप जीता, तो इंस्टाग्राम ने उनका अकाउंट क्यों बैन कर दिया?

07:46 PM Jan 31, 2023 | पुनीत त्रिपाठी
Advertisement

लियोनल मेसी. 18 दिसंबर 2022 को क़तर में वर्ल्ड चैंपियन बने. मेसी की टीम ने फाइनल में फ्रांस को हराया. इस मैच के रेगुलर टाइम में मेसी ने दो गोल भी दागे. इस खिताब के बाद मेसी ने इंस्टाग्राम पर कई तस्वीरें शेयर कीं. और इन तस्वीरों वाली एक पोस्ट तो इंस्टाग्राम के इतिहास में सबसे ज्यादा लाइक पाने वाली पोस्ट बन गई. और अब एक इंटरव्यू में मेसी ने अजब खुलासा किया है. मेसी ने बताया है कि वर्ल्ड कप के ठीक बाद इंस्टाग्राम ने उनका अकाउंट बैन कर दिया था.

Advertisement

अर्बना प्ले नाम के चैनल से बात करते हुए एक वीडियो इंटरव्यू में मेसी ने बताया,

‘वर्ल्ड कप जीतने के बाद मुझे बहुत सारे मैसेज आए थे. इंस्टाग्राम ने मेरा अकाउंट कुछ दिनों के लिए बैन कर दिया था. मुझे इंस्टाग्राम पर लाखों मैसेज आए थे, इसलिए उन्होंने मुझे बैन कर दिया था!’

# माराडोना से क्या चाहते थे मेसी?

मेसी से पहले 1986 में डिएगो माराडोना ने अर्जेंटीना को वर्ल्ड कप जिताया था. उन्हें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर्स में से एक माना जाता था. 25 नवंबर 2020 को उनकी मौत हो गई थी. मेसी ने उनके बारे में भी बात की. उन्होंने कहा,

‘अगर डिएगो माराडोना मुझे ये कप थमाते या कम-से-कम देख पाते, तो भी मुझे खुशी होती. वो नेशनल टीम को बहुत प्यार करते थे और अर्जेंटीना को वर्ल्ड चैंपियन बनते देख उन्हें बहुत खुशी मिलती. मुझे लगता है कि उन्होंने और जितने लोग मुझसे प्यार करते हैं, उन्होंने मुझे हिम्मत दी.’

# सबसे मुश्किल मैच कौन सा था?

मेसी ने इस इंटरव्यू में ये भी बताया कि उनके हिसाब से सबसे मुश्किल मैच कौन सा था. मेसी ने कहा,

‘मेहिको (Mexico) वाला मैच हमारे लिए सबसे मुश्किल था. हमारे लिए सब कुछ दांव पर था. हमने मैच जीता, पर मेरे हिसाब से वो हमारा सबसे खराब प्रदर्शन था. वो मैच हमारे लिए जीतना जरूरी था, और इस वजह से हम लोग शायद अलग तरीके से खेल रहे थे. मुझे यकीन था कि हम ये मैच जीत जाएंगे. इस ग्रुप के बिना ये कर पाना बहुत मुश्किल होता.’

अर्जेंटीना ने 2022 में लंबे इंतजार के बाद वर्ल्ड कप का इंतजार खत्म किया था. टीम ने 36 साल और आठ एडिशन्स के बाद ये ख़िताब कमाया. मेसी की कप्तानी में टीम 2014 में भी इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची थी. हालांकि वहां उन्हें जर्मनी से हार मिली थी.

Advertisement
Next